12:52 AM | Thursday, February 9, 2023
krutidev mangal
Text Converter

रीसेंट आर्टिकल्स

केरल में दूध छह रुपये प्रति लीटर महंगा हुआ

- Advertisement -

केरल, 01 दिसम्बर (वार्ता): डेयरी किसानों की बढ़ती लागत की भरपाई करने के लिए केरल सहकारी दुग्ध विपणन संघ (KCMMF) ने गुरुवार (एक दिसंबर) से दूध के दाम छह रुपये प्रति लीटर बढ़ा दिये है। मिल्मा के अध्यक्ष के एस मणि ने यह जानकारी दी। मणि ने कहा कि संशोधन के अनुसार 500 मिलीलीटर डबल टोंड दूध की कीमत 24 रुपये , नॉन-होमोजेनाइज्ड टोंड मिल्क 25 रुपये, होमोजिनाइज्ड टोंड मिल्क 26 रुपये, होमोजिनाइज्ड टोंड मिल्क 28 रुपये, 500 मिली स्टैण्डर्ड मिल्क 29 रुपये और 520 मिली प्राइड मिल्क 28 रुपये है।

मणि ने कल मीडियाकर्मियों को संबोधित करते हुए कहा कि कीमतों में 83.75 प्रतिशत वृद्धि किसान को दी जाएगी। यानी एक लीटर दूध के लिए छह रुपए की बढ़ोतरी में से 5.025 रुपए किसान को दिए जाएंगे। इसके अतिरिक्त 0.75 पैसे कल्याण कोष में दिए जाएंगे। दुग्ध सहकारी समितियों और डीलरों को बढ़े हुए मूल्य का 5.75 प्रतिशत (0.345 रुपये) प्राप्त होगा।

- Advertisement -

फेडरेशन को 3.5 प्रतिशत (0.21 रुपये) और 0.5 प्रतिशत (0.03 रुपये) प्लास्टिक उन्मूलन कार्यक्रम में जाएगा। श्री मणि ने कहा कि मूल्य संशोधन का अधिकांश लाभ जहां किसानों को होगा, वहीं दुग्ध सहकारी समितियों और डीलरों को भी इस निर्णय से लाभ होगा। उन्होंने कहा कि डेयरी क्षेत्र पिछले कुछ वर्षों से अत्यधिक कठिन दौर से गुजर रहा है। डेयरी अध्यक्ष ने कहा कि 2019 के बाद अब दूध के दामों में बढ़ोतरी की जा रही है। वर्ष 2019 में चार रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी की गई थी, जिसमें से 3.35 रुपये किसानों को दिए गए।

उन्होंने कहा कि एक नवंबर से पशुओं के चारे की कीमतों में 12 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। कच्चे माल की कीमतों में वृद्धि के कारण पशु चारा कारखाने अपने अंतिम उत्पादों की कीमतों में भी बढ़ोतरी किए बिना काम नहीं कर सकते हैं। चालू वित्त वर्ष के दौरान पशु चारा फैक्ट्रियों को 18 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है। इसके अलावा, अन्य राज्यों से केरल में दूध की आवक में कमी आई है। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा गठित एक पैनल के अध्ययन के आधार पर मिल्मा और केएफएल पशु आहार की कीमतों में बढ़ोतरी की गई थी। सरकार ने एसएलबीपी योजना के तहत पशुओं के चारे की कीमत भी बढ़ा दी।

- Advertisement -

रिलेटेड आर्टिकल्स

Latest Posts

जरुर पढ़ें

सेंसेक्स और निफ्टी ने 2022 में निवेशकाें को किया मालामाल

शेयर बाजार, 1 जनवरी 2023- अगर घरेलू शेयर बाजार के पिछले पूरे साल के लेखा-जोखा पर नजर डालें तो कोरोना महामारी के साथ ही...

आदिवासी समाज की सहमति के बिना पेड़ों को काटना गलत: हेमन्त सोरेन

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने केंद्र सरकार द्वारा लाए गए उस कानून पर आपत्ति जताई है, जिसमें कहा गया है कि आदिवासियों और...

लव जिहाद , धर्मांतरण निरोधक कठोर केन्द्रीय कानून की मांग

नयी दिल्ली, 01 दिसंबर (वार्ता): विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) ने 'लव जिहाद' को जिहाद के विभिन्न स्वरुपों में सबसे वीभत्स, क्रूर और अमानवीय बताते...

भिक्षावृत्ति मुक्त उदयपुर अभियान: 18 लोगों को रेस्क्यू कर पुनर्वास गृह भेजा

उदयपुर: राजस्थान के उदयपुर में संचालित भिक्षावृत्ति मुक्त अभियान के तहत अब तक 18 लोगों को रेस्क्यू कर शहर के चित्रकूट नगर स्थित पुनर्वास...

मुख्यमंत्री के समान नागरिक संहिता के जिक्र के दौरान कैबिनेट मंत्री मुस्कुराते रहे

बड़वानी, 01 दिसंबर (वार्ता): मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा आज बड़वानी जिले में आयोजित पेसा जागरूकता सम्मेलन के दौरान समान...

संपर्क में रहे

सभी नवीनतम समाचारों, ऑफ़र और विशेष घोषणाओं से अपडेट रहने के लिए।

सबसे लोकप्रिय